बिहार में 32 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव। एक आईएएस अधिकारी भी आये चपेट में

पटना ( द न्यूज़)। पूरे बिहार में 32 पुलिसकर्मी भी कोरोना संक्रमण से ग्रसित हुए हैं। साथ ही एक नालंदा जिले में पोस्टेड एक आई ए एस पदाधिकारी भी कोरोना पॉजिटिव हुए हैं।

लाकडाउन के दौरान पुलिस के द्वारा की गई कार्रवाई की जानकारी देते हुए एडीजी मुख्यालय जीतेन्द्र कुमार ने कहा की पिछले 24 घंटे के दौरान 14 काण्ड दर्ज किये गए है और 44 लोगों की गिरफ्तारी की गई हैं, 1078 वाहनों को जब्त किया गया हैं ,जो लाकडाउन के उल्लंघन में संलिप्त पाए गए हैं , 32,10 ,950 रूपये की राशि फाइन के रूप में वसूल की गई वाहनों से । इस प्रकार कुल आकड़ा हमारा बनाता हैं 2047 काण्ड दर्ज हुए हैं, और 2183 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई, 70203 वाहन अबतक जब्त किये जा चुके हैं और 16 करोड़ 25 लाख की राशि फाइन के रूप में वसूल की गई हैं पुलिस में करोना और उनकी सुरक्षा से सम्बंधित प्रश्न के जवाब में एडीजी ने कहा की हमने अपनी सभी पुलिस लाइन को जिला पुलिस लाइन में जब से संक्रमण की संभावना प्रारंभ हुई और जब से लाकडाउन लागू हुआ , तब से स्ट्रिक्ट एक्सिस कंट्रोल के प्रोविजन लागू किये वहां और नियमित रूप से उनकी सफाई, छिड़काव अदि की व्यवस्था की गई । इसके साथ साथ वहां पर कोई बाहरी आदमी अनावश्यक प्रवेश न करें, पुलिस लाइन में भी इसके साथ साथ हमने यही व्यवस्था थानों में और अन्य प्रतिष्ठानों में भी की जो कोई भी बाहरी व्यक्ति आये , पहली बात ये है उसकी संख्या कम से कम हो, जिन्हे आवश्यक कार्य हो वही आये और जो आये भी तो उनके भी सेनेटाइजेशन की व्यवस्था की जाए । उनको उपलब्ध कराये जाए । तो इसी क्रम में हमने सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देश भी दिया की वे पुलिसकर्मियॉं को आवश्यक संख्या में मास्क , ग्लबस और सेनेटाइजर उपलब्ध कराये । उसमे पुरे राज्य में 88142 पेयर ग्लब्स ये पुलिसकर्मयों को उपलब्ध कराये गए । 213374 मास्क अभी तक उपलब्ध कराये गए हैं, ये संख्या नियमित रूप से बढाती भी जाती है क्योकि इस्तेमाल में होते है और कुछ चीजों का फिर से इस्तेमाल भी हो जाता हैं, लेकिन सभी नहीं हो सकती हैं । जो फार्मास्टिकल्स ग्रेड और कुछ चीजे गंभीर जगहों पर इस्तेमाल किये जाते है उसका दोबारा इस्तेमाल नही हो सकता हैं । सेनेटाइजर जो उपलब्ध कराये गए है वो 22 हजार लीटर के करीब हैं 21897 लीटर के करीब उपलब्ध कराई गई हैं । इस प्रकार उनलोगों को ट्रेनिंग सेसन भी आयोजित किये गए है स्थानीय स्तर पर और वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से भी उनलोगो को सचेत भी किया गया और जो छोटी छोटी सावधानियां हैं, क्या बरतनी चाहिए , उसके बारे में भी उनको सचेत किया गया । अभियुक्तों की गिरफ्तारी आदि के बारे में भी किस प्रकार की सावधानी बरते उनके बारे में भी उन सबो को ब्रीफ किया जाता रहा है प्रतिदिन और वो आगे भी किया जाएगा । करोना संक्रमित कितने हुए उसके आकड़े हैं ये आकड़ा आज 32 हैं , इनमे से 10 है जो जिला पुलिस से संबंधित हैं 21 बी एम पी 14 के है और बी एम पी 1 के है जो की उसी कैम्पस में रहते हैं । इस प्रकार से बी एम पी को अलग हटा दिया जाए तो मात्र 10 पुलिसकर्मी है जो सक्रमित हुए हैं । और उसमे आपको एक और जानकारी दे देना चाहता हूँ की हमलोगों ने ये प्रावधान रखा था की जब कोई पुलिसकर्मी अवकास से लौटेगा तो वो सीधा सीधा पुलिस लाइन में नहीं जाएगा । उनके लिए एक अलग कोरेन्टाइन की व्यवस्था थी, वहां पर वे रहेगें, उनकी स्क्रीनिंग और आवश्यकताअनुसार टेस्ट के बाद ही सामान्य डियूटी में सम्मिलित किया जाएगा । जो ये दस पुलिसकर्मी जिला वाले हैं ये सब उसी प्रक्रिया में डिस्कवर किये गए हैं इस तरह से ये सक्रमण किसी भी पुलिस लाइन में नहीं पहुंचा हैं । ये हमारे लिए संतोष की बात हैं और दस में से आठ रिकवर हो चुके हैं और जो दो बचे है वे भी ठीक होने के कागार पर है , उनके भी निकट भविष्य में उबार आने की संभावना हैं , इस प्रकार हमने स्वास्थ्य विभाग से आग्रह किया था की जो डोर टू डोर सर्वे चल रहा हैं तो पुलिस लाइन और वाहीनी का भी सर्वे करा दें तो वे भी हमारा चल रहा हैं उसके तहत 2265 के करीब पुलिस लाइन के घरो और बैरक का हो चुका हैं । जिसके तहत 12344
पर्शनल कवर हो चुके हैं 884 सेम्पल लिए गए थे 763 नेगेटिव आये हैं 32 यही पॉजिटिव थे कुछ अभी जांच में बचे हुए थे जिसका रिजल्ट नहीं आया हैं ये बी एम पी वाले हैं । इस तरह अभी तक का आकड़ा है जो संक्रमित हुए थे उनमे से 8 ठीक हो चुके है 24 आइसोलेशन में है ये भी एक संतोष की बात हैं हमारे सभी पुलिसकर्मी कठिन परिस्थिति में भी लगातार डियूटी में लगे हुए हैं और किसी ने भी अपने डियूटी में कौताही नहीं बरती और हमे उन पर गर्व हैं ।

Related Post

This post was last modified on 15/05/2020 9:59 pm

Thenews Editor: This site is meant for social cause. Awareness towards nationalism. Giving true picture of present political situations. The main moto is to highlight good thing of society and to discourage bad element of society.